water logging in Patna

पटना में जोरदार बारिश के बाद सड़कें बनी तालाब, जलजमाव से परेशान लोग

पटना. मॉनसून के बाद लगातार हो रही बारिश से बिहार की राजधानी पटना में एक बार फिर जलजमाव की स्थिति ने लोगों की चिंता बढ़ा दी है। रविवार की सुबह हुई मूसलाधार बारिश के बाद अधिकांश इलाकों में पानी जमा होने से लोगों को परेशानी बढ़ गई है। बिहार के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी के आवास के पास भी पानी भरा है । कई इलाकों में जलजमाव के कारण लोग घर से नहीं निकल पा रहे हैं ।

water logging in patna
राजेंद्रनगर की सड़क का नजारा

बता दें कि साल 2019 में जलजमाव के कारण पटना थम सा गया था। कई दिनों तक कई मुहल्ले के लोग खाने के लिये तरस गये थे। 2019 में आई तबाही से लोग अभी तक डरे हुए हैं । पिछले साल की घटना की पुनरावृति ना हो, इसके लिये सरकार ने कई दिशानिर्देश दिये, बावजूद इसके जलजमाव जैसी समस्या से निजात नहीं मिल पाया । पटना के कंकड़बाग, राजेंद्रनगर, बस स्टैंड, करबिगहिया और बाजार समिति में सड़कों पर पानी भरा है ।

 

पटना बस स्टैंड

                          पटना बस स्टैंड

 

 

बाजार समिति की सड़क

                   बाजार समिति की सड़क

वहीं सोशल मीडिया के जरिये लोग अपने गुस्से का इजहार कर रहे हैं । चंद्रदीप ने ट्विटर पर लिखा है कि पटना के बाज़ार समिति इलाके में जलजमाव अपने चरम पर। कहां गए पटना को न डूबने देने के वायदे। क्या यह इलाका राजनीतिक गलियारों में प्रभावी नहीं।