नितिन मेनन (फोटो- सौजन्य आईसीसी)

नितिन मेनन आईसीसी के एलीट पैनल में शामिल होने वाले तीसरे भारतीय अंपायर बने

भारतीय अंपायर नितिन मेनन (Nitin Menon) को सत्र 2020- 21 के लिये आईसीसी (ICC) के एलीट पैनल में शामिल किया गया है । 36 साल के नितिन मेनन (Nitin Menon) आईसीसी (ICC) पैनल में शामिल होने वाले तीसरे भारतीय हैं और वह इस पैनल में सबसे युवा अंपायर भी होंगे। नितिन मेनन (Nitin Menon) ने 24 वनडे और 16 टी- 20 मैच में अंपायरिंग की है। आईसीसी ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है।

नितिन मेनन (Nitin Menon) ने इंग्लैंड के नाइजिल लौंग (Nigel Llong) को रिप्लेस कर इस पैनल में जगह बनाई है। नितिन मेनन (Nitin Menon) से पहले भारत के श्रीनिवास वेंकटराघवन और सुंदरम रवि ने आईसीसी (ICC) के एलीट पैनल में जगह बनाई थी। आईसीसी के महाप्रबंधक (क्रिकेट) ज्योफ एलरडाइस (अध्यक्ष), पूर्व खिलाड़ी और कमेंटेटर संजय मांजरेकर और मैच रेफरियों रंजन मदुगले एवं डेविड बून की चयन समिति ने नितिन को चुना है ।

वहीं एलीट पैनल में शामिल होने के बाद नितिन मेनन (Nitin Menon) ने खुशी जताते हुए कहा कि यह मेरे लिये सम्मान और गर्व की बात है कि मुझे यह जिम्मेदारी दी गई है। मैं इस जिम्मेदारी को समझता हूं और आने वाली चुनौतियों के लिये तैयार हूं और अपना बेहतर देने की कोशिश करूंगा।

नितिन मेनन (Nitin Menon) ने मध्य प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन, बीसीसीआई और आईसीसी को उनमें विश्वास जताने के लिये आभार व्यक्त किया। आईसीसी के सीनियर मैनेजर एड्रियन ग्रिफिथ ने उन्हें शुभकामना देते हुए कहा कि वह सफलता के पथ पर आगे बढ़ेंगे।

कौन हैं नितिन मेनन:
मध्य प्रदेश के इंदौर के रहने वाले नितिन मेनन (Nitin Menon) के पिता नरेंद्र मेनन भी पूर्व अंतरराष्ट्रीय अंपायर रह चुके हैं । नितिन मेनन (Nitin Menon) 2005 में मध्यप्रदेश क्रिकेट संघ के प्रदेश पैनल के अंपायर बने थे। 2006 में बीसीसीआई का अखिल भारतीय अंपायरिंग इम्तिहान पास किया। वह 2007-08 सत्र से घरेलू मैचों में अंपायरिंग कर रहे हैं । वह 57 प्रथम श्रेणी मैचों के अलावा 24 वनडे और 16 टी- 20 मैच में अंपायरिंग की है ।