bank loot case

पटना बैंक डकैती केस: कोचिंग संचालक निकला मास्टरमाइंड, 33 लाख रूपये के साथ पांच अपराधी गिरफ्तार

पटना. अनीसाबाद इलाके में पंजाब नेशनल बैंक से दिनदहाड़े लूट के मामले में पुलिस ने लूट के मास्टरमाइंड सहित पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। लूट का मास्टरमाइंड एक कोचिंग संचालक है। पुलिस ने पकड़े गये अपराधियों के पास से 33 लाख रूपया बरामद किया है। 22 जून को हथियारबंद अपराधियों ने बैंक से 52 लाख रूपये लूट लिये थे। गिरफ्तार अपराधियों के पास से हथियार भी मिला है और यह सभी स्थानीय अपराधी हैं।

पटना के एसएसपी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि घटना के पांच दिन बाद 27 जून को ही हमारी टीम को अहम सुराग मिल गया था। जिसके बाद 21 सदस्यीय टीम बनाई गई थी, जिसमें 13 सिपाही और नौ अफसरों ने दिन रात छापेमारी की। गिरोह का सरगना अमन कुमार जक्कनपुर इलाके का रहने वाला है और कोचिंग इंस्टीट्यूट चलाता है। उन्होंने कहा कि अमन कुमार और आरके नगर के रहने वाले हरिनारायण ने मिलकर इस घटना की प्लानिंग बनाई और बाकी के अपराधियों के साथ मिलकर इस घटना को अंजाम दिया। यह सभी अपराधी पिछले पांच साल से आपराधिक वारदातों को अंजाम दे रहे थे, मगर पकड़े नहीं गये थे। पांच साल पहले एसके पुरी में एक घर में हुई लूट और 23 फरवरी 2020 को पटना के कंकड़बाग इलाके में फर्स्ट क्राई शो रूम में हुई लूट में ये सभी अपराधी शामिल थे।

एसएसपी ने बताया कि दिसंबर से इस घटना की प्लानिंग चल रही थी। अमन और हरिनारायण दोनों गांधी मैदान में मॉर्निंग वॉक के लिये आते थे और इसी दौरान दोनों ने मिलकर इस घटना की प्लानिंग की और स्थानीय अपराधियों की मदद से इस घटना को अंजाम दिया। अपराधियों के पास 33 लाख रूपये के अलावा 85 हजार रूपये की शराब और हथियार भी बरामद हुआ है। हरिनारायण कराटा टीचर और जिम इंस्ट्रक्टर है और वह आरके नगर में रहता है।

पकड़े गये अपराधी
अमन कुमार, जक्कनपुर
सोनेलाल, गोसाईंटोला, बुद्धा कॉलोनी
हरिनारायण, आरके नगर
प्रफुल्ल कुमार- बोरिंग केनॉल रोड
गणेश कुमार उर्फ ननकी- राजा पुल

बता दें कि 22 जून को हथियारबंद लुटेरों ने पीएनबी से 52 लाख 38 हजार रुपये लूट लिये था। वारदात को अंजाम देने के बाद सभी बदमाश अलग-अलग बाइक पर सवार होकर घटनास्थल से फरार हो गये थे। लूट का विरोध करने पर कुछ ग्राहकों के साथ मारपीट भी की गई थी।