Police encounter

Kanpur Encounter: विकास दुबे का दाहिना हाथ अमर दुबे मुठभेड़ में ढ़ेर, सूचना देने वाले को मिलेगा पांच लाख

कानपुर. आठ पुलिसकर्मियों की हत्या का आरोपी विकास दुबे अब तक फरार है। पुलिस की टीम लगातार छापेमारी कर रही है, मगर उसका कोई सुराग नहीं मिल पाया है । इसी बीच पुलिस ने हमीरपुर में विकास दुबे के दाहिना हाथ अमर दुबे को मुठभेड़ में मार गिराया है । अमर दुबे गोलीबारी के दिन बिकरू गांव में मौजूद था और उसने भी पुलिसकर्मियों पर गोली चलाई थी। वहीं यूपी पुलिस ने विकास दुबे को पकड़ने को लेकर इनामी राशि भी बढ़ा दी है। इनामी राशि को अब ढ़ाई लाख से बढ़ाकर पांच लाख कर दिया गया है ।

प्राप्त जानकारी के अनुसार अमर दुबे मंगलवार रात अपने रिश्तेदार के घर आया था, बुधवार की सुबह वहां से निकला, जिसके बाद पुलिस ने उसे मार गिराया । इस मुठभेड़ में दो पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं । अमर दुबे पर कानपुर देहात और चौबेपुर थाने में कई केस दर्ज हैं। इनमें आठ हत्या, हत्या की कोशिश, लूट, रंगदारी, डकैती और धमकी देने जैसी गंभीर धाराओं के हैं। पुलिस ने उसे कई बार गिरफ्तार किया था, मगर विकास दुबे की वजह से वह बच गया। वहीं यूपी एसटीएफ ने मध्य प्रदेश के शहडोल में विकास के साले राजू निगम के घर भी दबिश दी है, एसटीएफ की टीम राजू के बेटे को साथ ले गई है ।

मिली जानकारी के अनुसार मंगलवार को विकास फरीदाबाद के एक होटल में देखा गया था, लेकिन पुलिस के पहुंचने से पहले ही फरार हो गया, लेकिन पुलिस ने वहां से उसके दो साथी प्रभात और अंकुर को पकड़ा है, जिनके पास हथियार भी मिला है । साथियों की लगातार हो रही धरपकड़ और दाहिना हाथ अमर दुबे के मारे जाने के बाद विकास दुबे के सरेंडर करने की बात सामने आ रही है ।

आठ पुलिसकर्मी हुए थे शहीद:
बता दें कि गुरूवार रात कानपुर के बिठुर में हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे को गिरफ्तार करने पहुंची पुलिस टीम पर अपराधियों ने अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी थी । इस गोलीबारी में डीएसपी सहित आठ पुलिसकर्मी शहीद हो गये थे।