jofra archer

वेस्टइंडीज के खिलाफ मैच से पहले जोफ्रा ऑर्चर ने की बड़ी गलती, टीम से बाहर किये गये

इंग्लैंड के तेज गेंदबाज जोफ्रा ऑर्चर (Jofra Archer) ने वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरे टेस्ट मैच से पहले एक बड़ी गलती की, जिसका खामियाजा उन्हें भुगतना पड़ा और उन्हें टीम से बाहर कर दिया। कोरोना संकट के बीच खेले जा रही इंग्लैंड- वेस्टइंडीज सीरीज (England West Indies Test Series) के दूसरे मैच से पहले जोफ्रा ऑर्चर (Jofra Archer)  ने इंग्लैंड क्रिकेट टीम के बायो सिक्योरिटी प्रोटोकॉल का उल्लंघन कर दिया। ऑर्चर साउथैम्पटन टेस्ट खेलने के बाद अपने घर चले गए थे, जो प्रोटोकॉल का उल्लंघन है।

जोफ्रा आर्चर (Jofra Archer) को अब अगले पांच दिनों तक आइसोलेशन में रहना होगा, इस दौरान उनका दो बार कोरोना का टेस्ट कराना होगा। टेस्ट के नेगेटिव होने के बाद ही उन्हें टीम में दुबारा जगह मिलेगी। हालांकि ऑर्चर ने अपनी इस गलती के लिये माफी मांग ली है। ऑर्चर ने कहा है कि मैंने अपनी एक गलती से न केवल खुद को, बल्कि पूरी टीम और प्रबंधन को खतरे में डाल दिया, मैं इसके लिये माफी मांगता हूं।

ENG Vs WI: साउथैंप्टन टेस्ट में वेस्टइंडीज की जीत, इंग्लैंड को चार विकेट से दी मात

क्या है बायो सिक्योरिटी प्रोटोकॉल:
बायो सिक्योरिटी प्रोटोकॉल के तहत दोनों टीमों के खिलाड़ियों को बाहर घूमने की आजादी नहीं है। खिलाड़ियों को मैच के दौरान भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना है। मैच के दौरान लार का इस्तेमाल नहीं करना है, साथ ही साथ हाथ भी नहीं मिलाना है। इस नियम का उद्देश्य वायरस और बैक्टीरिया के कारण लोगों के संक्रमित होने के जोखिम को कम करना है।

बेन स्टोक्स के नाम जुड़ी खास उपलब्धि, चार हजार रन और 150 विकेट लेने खिलाड़ियों की लिस्ट में शामिल

इंग्लैंड और वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) ने इस सीरीज से पहले प्रोटोकॉल तय किये थे। स्टेडियम से लेकर खिलाड़ियों के होटल को इसी के तहत सेनिटाइज किया गया है और नियमों को सख्ती से पालन करने का निर्देश दिया था। इस प्रोटोकॉल के तहत ही वेस्टइंडीज की टीम सीरीज से एक पहले इंग्लैंड के दौरे पर आई थी और सभी खिलाड़ियों को आइसोलेशन में रखा गया था।