Corona case in shiekhpura

झारखंड में कोरोना से पांच और मरीजों की मौत, 221 नये केस मिले, दस हजार के पास पहुंचा आंकड़ा

रांची. झारखंड में कोरोना वायरस का कहर जारी है। राज्य में इस वायरस की चपेट में आकर बुधवार को पांच और मरीजों की मौत हो गई। अब राज्य में इस वायरस से मरने वालों की संख्या 99 पहुंच गई है। वहीं राज्य में 221 नये मरीज मिलने के बाद कोरोना के मरीजों का आंकड़ा दस हजार के करीब पहुंच गया है। राज्य में कोरोना के कुल 9894 मरीज हैं। एक्टिव केस की संख्या 5734 है। 4061 मरीजों को ठीक होने के बाद डिस्चार्ज किया जा चुका है।

पिछले 24 घंटे में राज्य में 77 मरीज स्वस्थ हुए हैं। पूर्वी सिंहभूम में सबसे ज्यादा 40 जबकि पलामू में 34 मरीज मिले हैं।

पूर्वी सिंहभूम में 40, पलामू में 34, चतरा से 32 और रांची से 27 नये मरीज मिले हैं। इसके अलावा पश्चिमी सिंहभूम में 18, रामगढ़ में 14, पाकुड़, लोहरदगा और धनबाद में 10-10 और गुमला और गढ़वा में सात- सात मरीज मिले हैं। खूंटी में चार, लातेहार और गिरिडीह में तीन- तीन, हजारीबाग और जामताड़ा में दो- दो, देवघर, दुमका और सरायकेला में एक- एक मरीज मिला है। रांची में तीन, हजारीबाग में एक और देवघर में एक मरीज की मौत हुई है।

राज्य में कहां कितने मरीज:
बोकारो में 159, चतरा में 313, देवघर में 187, धनबाद में 509, दुमका में 65, पूर्वी सिंहभूम में 1635, गढ़वा में 437, गिरिडीह में 386, गोड्डा में 111, गुमला में 301, हजारीबाग में 602, जामताड़ा में 69, खूंटी में 76, कोडरमा में 518, लातेहार में 235, लोहरदगा में 244, पाकुड़ में 230, पलामू में 407, रामगढ़ में 365, रांची में 1938, साहेबगंज 166, सरायकेला में 213, सिम़डेगा में 470 और पश्चिमी सिंहभूम में 258 ।

स्वस्थ हुए:
बोकारो में 96, चतरा में 158, देवघर में 84, धनबाद में 201, दुमका में 37, पूर्वी सिंहभूम में 540, गढ़वा में 197, गिरिडीह में 153, गोड्डा में 19, गुमला में 103, हजारीबाग में 306, जामताड़ा में 38, खूंटी में 40, कोडरमा में 266, लातेहार में 107, लोहरदगा में 120, पाकुड़ में 79, पलामू में 179, रामगढ़ में 161, रांची में 506, साहिबगंज में 59, सरायकेला में 88, सिम़डेगा में 374 और पश्चिमी सिंहभूम में 147 ।

कहां कितनी मौत:
रांची में 22, धनबाद में 13 ,हजारीबाग में नौ, पूर्वी सिंहभूम में 22, गिरिडीह में चार, साहेबगंज में दो, बोकारो में दो, कोडरमा में चार, सरायकेला में चार,  रामगढ़ में दो, खूंटी में एक, गुमला में एक, देवघर में दो, गढ़वा में एक, पश्चिमी सिंहभूम में एक,  गोड्डा में दो, और सिमडेगा में एक।