Jagarnath Mahato

झारखंड के शिक्षा मंत्री 53 साल की उम्र में शुरू करेंगे पढ़ाई, 11वीं क्लास में लिया एडमिशन

रांची. झारखंड के शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो (Jagarnath Mahto) इन दिनों सुर्खियों में हैं। जगरनाथ महतो (Jagarnath Mahto) ने 53 साल की उम्र में पढ़ाई शुरू करने का फैसला लिया है। उन्होंने बोकारो के नावाडीह के देवी महतो इंटर कॉलेज में 11वीं क्लास में एडमिशन लिया है। जगरनाथ महतो (Jagarnath Mahto) ने 1995 में दसवीं पास की थी, उसके बाद उनकी पढ़ाई छूट गई थी।

जगरनाथ महतो (Jagarnath Mahto) ने आर्ट्स संकाय में अपना रजिस्ट्रेशन कराया है। वह मंत्रालय संभालने के साथ- साथ अपनी पढ़ाई भी पूरी करेंगे। बता दें कि राज्य में दसवीं पास के शिक्षा मंत्री बनने को लेकर दबी जुबान में ही मगर सवाल उठते रहे हैं। इसी को देखते हुए जगरनाथ महतो ने आगे की पढ़ाई पूरा करने का निर्णय लिया है।

झारखंड के देवघर में दर्दनाक हादसा, सेप्टिक टैंक में दम घुटने से छह लोगों की मौत

क्यों लिया पढ़ाई करने का फैसला:
जगरनाथ महतो (Jagarnath Mahto) को इसी साल झारखंड में हेमंत सरकार में शिक्षा मंत्री बनाया गया था। शिक्षा मंत्री बनाये जाने के बाद लोगों ने दसवीं पास के शिक्षा मंत्री को लेकर सवाल उठाने शुरू कर दिये। जिसके बाद जगरनाथ महतो ने आगे की पढ़ाई का फैसला लिया। जगरनाथ महतो ने कहा है कि शिक्षा हासिल करने की कोई उम्र सीमा नहीं होती। नौकरियों करते हुए लोग आईएएस, आईपीएस की तैयारी करते हैं और सफल भी होते हैं। उनके अंदर भी इच्छाशक्ति है और वह अपनी पढ़ाई पूरी करेंगे। शिक्षा मंत्री ने रूप में जगरनाथ महतो ने बच्चों की पढ़ाई को लेकर कई महत्वपूर्ण फैसले लिये हैं।

झारखंड में टूटे सारे रिकॉर्ड, एक दिन में कोरोना के 978 नये मामले, 548 स्वस्थ हुए, 15 हजार के पार आंकड़ा

झारखंड सरकार में कई मंत्री हैं दसवीं पास
जगरनाथ महतो के अलावा झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार में कई और मंत्री भी दसवीं पास हैं। जिसमें स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता, परिवहन मंत्री चंपई सोरेन, समाज कल्याण मंत्री जोबा मांझी और श्रम मंत्री सत्यानंद भोक्ता शामिल हैं।