Jeetan Ram Manjhi

Bihar Election 2020: जीतन राम मांझी ने महागठबंधन से नाता तोड़ा, एनडीए में हो सकती है वापसी

पटना. बिहार चुनाव (Bihar Election) से पहले राज्य में राजनीतिक उठापठक जारी है। गुरूवार को महागठबंधन को तगड़ा झटका लगा, जब जीतन राम मांझी (Jeetan Ram Manjhi) ने महागठबंधन से नाता तोड़ने का ऐलान कर दिया। जीतन राम मांझी की पार्टी ‘हम’ एनडीए  में शामिल हो सकती है।

हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (Hindustani Awam Morcha) की कोर कमेटी की बैठक में महागठबंधन से अलग होने का फैसला सर्वसम्मति से लिया गया। फैसले के बाद पार्टी के प्रधान सचिव संतोष मांझी ने कहा कि पार्टी ने आगे का रास्ता खुला रखा है। आरजेडी के साथ हमारा कोई गठबंधन नहीं होगा।

बिहार में कोरोना के 2451 नये केस, 1.15 लाख के पार पहुंची मरीजों की संख्या 

जीतन राम मांझी (Jeetan Ram Manjhi) की पार्टी के महागठबंधन से अलग होने की पिछले कई दिनों से चर्चा थी। जीतन राम मांझी (Jeetan Ram Manjhi) खुलकर आरजेडी को लेकर बयानबाजी कर रहे थे। हालांकि उनकी पार्टी की एनडीए में वापसी होगी या नहीं, इस पर पार्टी अभी फिलहाल खुलकर बोलने से बच रही है।

स्वच्छता सर्वेक्षण में इंदौर बना देश का सबसे साफ सुथरा शहर, पटना आखिरी पायदान पर 

महागठबंधन को हो सकता है नुकसान:

बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) से पहले जीतनराम मांझी के अलग होने से महागठबंधन को नुकसान हो सकता है। जीतन राम मांझी जिस समाज (मुशहर जाति) का प्रतिनिधित्व करते हैं, उसकी आबादी लगभग तीन फीसदी है। महागठबंधन को इस तीन फीसदी का नुकसान झेलना पड़ सकता है।

बता दें कि चुनाव से पहले राज्य में दलबदल का खेल जारी है। श्याम रजक जहां जेडीयू से आरजेडी में शामिल हो चुके हैं। वहीं आरजेडी के आधा दर्जन विधायक जेडीयू में शामिल हो गये हैं। गुरूवार को ही आरजेडी विधायक चंद्रिका राय सहित तीन विधायकों ने जेडीयू का दामन थामा।