Bihar Unlock

नीतीश सरकार का बड़ा फैसला, अब बिहार के निवासी ही प्राइमरी स्कूल में बनेंगे शिक्षक

पटना. बिहार (Bihar) की नीतीश सरकार (Nitish Government) ने बड़ा फैसला लिया है। अब राज्य के प्राइमरी स्कूलों (Bihar Primary school) में सिर्फ बिहार के निवासी ही शिक्षक बन पायेंगे। इस फैसले के बाद बिहार पंचायत प्राथमिक विद्यालय शिक्षक भर्ती (Bihar Panchayat Primary school teachers recruitment) के लिए आवेदन में अब दूसरे राज्यों के रहने वाले लोग शिक्षक के तौर पर आवेदन नहीं कर सकेंगे।

अब राज्य के करीब 72 हजार सरकारी प्रारंभिक विद्यालयों (Primary Schools) में शिक्षक पद पर सिर्फ राज्य के निवासी ही नियुक्त हो सकेंगे। बिहार शिक्षा विभाग (Bihar Education Department) की ओर से लिए गए इस फैसले में बिहार राज्य नगर प्रारंभिक विद्यालय सेवा और बिहार राज्य पंचायत प्रारंभिक विद्यालय सेवा (नियुक्ति, प्रोन्नति, स्थानांतरण, अनुशासनिक कार्रवाई और सेवाशर्त) नियमावली, 2020 में बदलाव किया है। साल 2006 से राज्य में लागू माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक शिक्षकों के नियोजन में यह व्यवस्था लागू है।

बिहार में कोरोना के 2247 नये मामले, 1.22 लाख के पार मरीजों की संख्या 

बता दें कि हाल ही में एमपी की शिवराज सरकार ने सरकारी नौकरी में स्थानीय लोगों को आरक्षण देने का ऐलान किया था। एमपी सरकार के इस फैसले का तेजी से विरोध रहा है।

नीतीश सरकार ने दिया था नियोजित शिक्षकों को तोहफा:

हाल ही में बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने नियोजित शिक्षकों को बड़ा तोहफा दिया था। नीतीश सरकार ने शिक्षकों के वेतन में बढ़ोतरी की थी। साथ ही साथ शिक्षकों के प्रमोशन, अनुकंपा के आधार पर नौकरी और ईपीएफ का लाभ देने की घोषणा की थी।