Brajesh Thakur

मुजफ्फरपुर बालिका शेल्टर होम केस: ब्रजेश ठाकुर पर कसा शिकंजा, मनी लांड्रिंग का चलेगा केस

पटना. मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड (Muzaffarpur Shelter Home case) में आजीवन कारावास की सजा काट रहा ब्रजेश ठाकुर (Brajesh Thakur) की मुश्किलें और बढ़ने वाली है। ब्रजेश ठाकुर के खिलाफ अब मनी लांड्रिंग का केस दर्ज किया गया है। ब्रजेश ठाकुर पर सरकार की तरफ से जारी किए गए फंड के दुरूपयोग का आरोप है। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने पटना की विशेष अदालत में मनी लांड्रिंग एक्ट के तहत मुकदमा चलाने के लिए चार्जशीट दायर कर दी है। मामले में ब्रजेश के घरवालों को भी अभियुक्त बनाया गया है।

मुजफ्फरपुर बालिका गृह (Muzaffarpur Shelter Home case) के संचालक ब्रजेश ठाकुर (Brajesh Thakur) के खिलाफ वर्ष 2018 मे मुजफ्फरपुर के महिला थाना में केस दर्ज किया गया था। सीबीआई ने जब मामले की जांच की, तो करोड़ों रूपये के गबन का मामला सामने आया।

मुख्तार अंसारी के खिलाफ बड़ी कार्रवाई, लखनऊ में दो इमारतों को किया गया ध्वस्त 

सीबीआई को ब्रजेश ठाकुर (Brajesh Thakur) के खिलाफ पुख्ता सबूत मिले, इसी आधार पर ED ने भी ब्रजेश के खिलाफ जांच शुरू की। जांच में बालिका गृह को संचालन के लिये बने एनजीओ सेवा संकल्प एवं विकास समिति को सरकार और अन्य माध्यमों से जो फंड मिले उसका दुरुपयोग किये जाने की बात सामने आई। बता दें कि ब्रजेश ठाकुर को इसी साल दिल्ली की अदालत ने सजा सुनाई थी।

नीतीश सरकार का बड़ा फैसला, अब बिहार के निवासी ही प्राइमरी स्कूल में बनेंगे शिक्षक 

ब्रजेश की कई संपत्तियां हो चुकी है जब्त:

बता दें कि मार्च 2019 में ब्रजेश ठाकुर (Brajesh Thakur) की 7.3 करोड़ की संपति जब्त की थी। इसके अलावा 1.47 करोड़ की संपत्ति इसी महीने जब्त की गई है। ब्रजेश ठाकुर का मुजफ्फरपुर के आरएम पैलेस होटल और पटना के अगमकुआं स्थित एक फ्लैट को भी जब्त किया गया है।