World Cup 2023: न्यूजीलैंड को हराकर फाइनल में टीम इंडिया, मोहम्मद शमी ने चटकाए सात विकेट

मुंबई. विराट कोहली और श्रेयस अय्यर के शानदार शतक के बाद मोहम्मद शमी के सात विकेट की मदद से भारत ने बुधवार को न्यूजीलैंड (Ind vs Nz) को 70 रन से हराकर चौथी बार वनडे विश्व कप के फाइनल में जगह बनाई.

भारत इससे पहले 1987, 1996, 2015 और 2019 में सेमीफाइनल से आगे नहीं बढ़ पाया था, चार साल पहले मैनचेस्टर में न्यूजीलैंड ने भारत को सेमीफाइनल में हराया था, जिसका बदला मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में भारतीय टीम ने ले लिया.

भारत ने टॉस जीत कर पहले बल्लेबाजी करते हुए चार विकेट पर 397 रन बनाए और इस तरह से विश्व कप के नॉकआउट चरण में सबसे बड़े स्कोर का रिकॉर्ड अपने नाम किया, इसके जवाब में न्यूजीलैंड की टीम 48.5 ओवर में 327 रन बनाकर आउट हो गई.

अहमदाबाद में रविवार को होने वाले फाइनल में भारत का सामना ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका के बीच दूसरे सेमीफाइनल के विजेता से होगा, दो बार का चैंपियन भारत इससे पहले 1983, 2003 और 2011 में फाइनल में पहुंचा था.

भारत की तरफ से कोहली ने 117 गेंद पर 113 रन, जबकि श्रेयस अय्यर ने 70 गेंद पर 105 रन बनाए, इन दोनों ने 128 गेंद पर 163 रन जोड़े, इससे पहले कप्तान रोहित शर्मा ने 29 गेंद पर 47 रन की तूफानी पारी खेल कर भारत को तेज शुरुआत दिलाई जबकि बीच में रिटायर्ड हर्ट होने वाले शुभमन गिल ने अंतिम ओवर में वापसी की और कुल 66 गेंद पर नाबाद 80 रन की पारी खेली. केएल राहुल 20 गेंद पर 39 रन बनाकर नाबाद रहे.

भारत के लक्ष्य के जवाब में न्यूजीलैंड का स्कोर एक समय दो विकेट पर 39 रन था जिसके बाद डेरिल मिचेल (119 गेंद पर 134) और कप्तान केन विलियमसन (73 गेंद पर 69 रन) ने तीसरे विकेट के लिए 181 रन की साझेदारी की, मिचेल ने अपनी पारी में नौ चौके और सात छक्के लगाए.

मोहम्मद शमी ने सात विकेट चटकाए

शमी ने अपने करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए 57 रन देकर सात विकेट लेकर भारतीय रिकॉर्ड बनाया, यह पहला अवसर है जबकि भारत के किसी गेंदबाज ने वनडे मैच में सात विकेट हासिल किए.

विराट कोहली ने तोड़ा सचिन का बड़ा रिकॉर्ड 

कोहली ने 106 गेंद पर अपना शतक पूरा करके तेंदुलकर के सामने उनका वनडे क्रिकेट में सर्वाधिक शतक का रिकॉर्ड तोड़ा, वह वनडे में शतकों का अर्धशतक पूरा करने वाले पहले बल्लेबाज बन गए हैं. उन्होंने इस पारी के दौरान किसी एक विश्व कप में सर्वाधिक रन बनाने के तेंदुलकर (2003 में 673 रन) का रिकॉर्ड भी अपने नाम किया.