Categories

September 26, 2022

Boundary Line Newsportal

News Innovate Your World

पीएम मोदी ने रखी राम मंदिर की नींव, कहा, श्रीराम के आदर्शों के साथ भारत बढ़ रहा आगे

1 min read
Pm narendra modi

Pm narendra modi (Photo- twitter)

अयोध्या. पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने बुधवार को अयोध्या में राम मंदिर (Ram Mandir in Ayodhya) की आधारशिला रखी। मंदिर की नींव खोदने के लिये चांदी के फावड़े का इस्तेमाल किया गया। रामलला को मखमल के हरे और भगवा रंग के वस्त्र पहनाए गए हैं। वस्त्रों पर नौ तरह का रत्न लगाया है। इस दौरान संघ प्रमुख मोहन भागवत, सीएम योगी आदित्यनाथ और यूपी की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल भी मौजूद रहीं। इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि भगवान राम का यह मंदिर युगों- युगों तक मानवता को प्रेरणा देता रहेगा। आज भारत श्रीराम के आदर्शों के साथ आगे बढ़ रहा है।

पीएम मोदी ने इससे पहले रामलला के दर्शन किए और उनके चरणों में लेटकर शीश नवाया। पीएम मोदी ने पंडाल में बैठकर भूमि पूजन किया। इस दौरान सभी मौजूद पंडित भूमि पूजन के लिए लगातार मंत्र का उच्चारण करते रहे। कार्यक्रम के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ध्यान रखा गया।

Ram mandir Bhumi Pujan
Ram mandir Bhumi Pujan

देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राम मंदिर के शुभारंभ पर खुशी जताई है। रामनाथ कोविंद ने लिखा है कि राम-मंदिर निर्माण के शुभारंभ पर सभी को बधाई! मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु राम के मंदिर का निर्माण न्यायप्रक्रिया के अनुरूप तथा जनसाधारण के उत्साह व सामाजिक सौहार्द के संबल से हो रहा है। मुझे विश्वास है कि मंदिर परिसर, रामराज्य के आदर्शों पर आधारित आधुनिक भारत का प्रतीक बनेगा।

 

पीएम मोदी ने कहा कि इस मंदिर के साथ सिर्फ नया इतिहास ही नहीं रचा जा रहा, बल्कि इतिहास खुद को दोहरा भी रहा है। आज भी भारत के बाहर दर्जनों ऐसे देश हैं जहां, वहां की भाषा में रामकथा, आज भी प्रचलित है। मुझे विश्वास है कि आज इन देशों में भी करोड़ों लोगों को राम मंदिर के निर्माण का काम शुरू होने से बहुत सुखद अनुभूति हो रही होगी। पीएम ने कहा कि श्रीराम के नाम की तरह ही अयोध्या में बनने वाला ये भव्य राममंदिर भारतीय संस्कृति की समृद्ध विरासत का द्योतक होगा और अनंतकाल तक पूरी मानवता को प्रेरणा देगा।

पीएम मोदी ने कहा कि श्री रामचंद्र को तेज में सूर्य के समान, क्षमा में पृथ्वी के तुल्य, बुद्धि में बृहस्पति के सदृश्य. और यश में इंद्र के समान माना गया है। श्रीराम का चरित्र सबसे अधिक जिस केंद्र बिंदु पर घूमता है, वो है सत्य पर अडिग रहना। इसीलिए ही श्रीराम संपूर्ण हैं। जीवन का ऐसा कोई पहलू नहीं है, जहां हमारे राम प्रेरणा न देते हों। भारत की ऐसी कोई भावना नहीं है जिसमें प्रभु राम झलकते न हों। भारत की आस्था में राम हैं, भारत के आदर्शों में राम हैं ।

Ayodhya Ram mandir Bhumi Pujan
Ayodhya Ram mandir Bhumi Pujan

उन्होंने कहा कि राम समय, स्थान और परिस्थितियों के हिसाब से बोलते हैं, सोचते हैं, करते हैं। राम हमें समय के साथ बढ़ना सिखाते हैं, चलना सिखाते हैं। राम परिवर्तन के पक्षधर हैं, राम आधुनिकता के पक्षधर हैं। उनकी इन्हीं प्रेरणाओं के साथ, श्रीराम के आदर्शों के साथ भारत आज आगे बढ़ रहा है । भारत की दिव्यता में राम हैं, भारत के दर्शन में राम हैं ।

पीएम मोदी ने कहा कि विश्व की सबसे अधिक मुस्लिम जनसंख्या इंडोनेशिया में है, वहां पर भी रामायण का पाठ होता है। पीएम ने बताया कि कंबोडिया, श्रीलंका, चीन, ईरान, नेपाल समेत दुनिया के कई देशों में राम का नाम लिया जाता है। हमें ये भी सुनिश्चित करना है कि भगवान श्रीराम का संदेश, राममंदिर का संदेश, हमारी हजारों सालों की परंपरा का संदेश, कैसे पूरे विश्व तक निरंतर पहुंचे। कैसे हमारे ज्ञान, हमारी जीवन-दृष्टि से विश्व परिचित हो, ये हमारी, हमारी वर्तमान और भावी पीढ़ियों की ज़िम्मेदारी है।

Pm narendra modi
Pm narendra modi

पीएम ने कहा कि प्रभु श्रीराम ने हमें कर्तव्यपालन की सीख दी है, अपने कर्तव्यों को कैसे निभाएं इसकी सीख दी है। उन्होंने हमें विरोध से निकलकर, बोध और शोध का मार्ग दिखाया है। हमें आपसी प्रेम और भाईचारे के जोड़ से राममंदिर की इन शिलाओं को जोड़ना है। भगवान राम का ये मंदिर युगों-युगों तक मानवता को प्रेरणा देता रहेगा, मार्गदर्शन करता रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.