Categories

September 26, 2022

Boundary Line Newsportal

News Innovate Your World

Chandra Grahan 2020: चंद्र ग्रहण आज, नहीं लगेगा सूतक, जानिए क्या है कारण

1 min read

5 जून यानि आज साल 2020 का दूसरा चंद्र ग्रहण (Lunar Eclipse) लगने जा रहा है। इससे पहले 10 जनवरी को पहला चंद्र ग्रहण (Lunar Eclipse) लगेगा। हर साल ग्रहण लगने का समय निर्धारित रहता है। ग्रहण के दौरान सूतक (Sutak) का विशेष महत्व है। चाहे वह सूर्य ग्रहण (Soler Eclipse) हो या चंद्र ग्रहण (Lunar Eclipse)। सूतक काल में किसी भी तरह का कोई शुभ कार्य नहीं किया जाता है। वहीं सूतक काल में भगवान के मंदिर के कपाट भी बंद कर दिए जाते हैं। लेकिन इस बार उपच्छाया चंद्र ग्रहण (Lunar Eclipse) होने के कारण इसका सूतक काल मान्य नहीं होगा। 

चंद्र ग्रहण लगने का समय

चंद्र ग्रहण (Lunar Eclipse) शुक्रवार 5 जून की रात 11 बजकर 16 मिनट से आरंभ हो जाएगा जो 6 जून, शनिवार को 2 बजकर 34 मिनट में समाप्त होगा। 12 बजकर 54 मिनट में ग्रहण का प्रभाव सबसे ज्यादा रहेगा।

यहां दिखेगा चंद्र ग्रहण 

चंद्र ग्रहण एशिया, ऑस्ट्रेलिया और अफ्रीका में दिखाई देगा। भारत में  चंद्र ग्रहण (Lunar Eclipse) 11:16 बजे से 2:34 तक रहेगा। ग्रहण काल में चंद्रमा अपने पूरे आकार में नजर आएगा। ग्रहण काल के दौरान चंद्रमा वृश्चिक राशि में होंगे।

उपछाया चंद्र ग्रहण

उपछाया चंद्र ग्रहण (Lunar Eclipse) में चांद (Moon) के आकार में कोई बदलाव देखने को नहीं मिलता है। इसमें चांद (Moon) का रंग मटमैल जैसा हो जाता है। ज्योतिषाचार्य के अनुसार इस ग्रहण को ग्रहण नहीं कहा जाता है और इसमें सूतक काल भी मान्य नहीं होता है। 

चंद्र ग्रहण और उपछाया चंद्र ग्रहण में अंतर

चंद्र ग्रहण (Lunar Eclipse) में पृथ्वी सूर्य और चंद्रमा के बीच में आ जाती है। लेकिन जब पृथ्वी की छाया वाले क्षेत्र में चंद्रमा (Moon) आ जाता है और चंद्रमा पर पड़ने वाली सूर्य की रोशनी काफी कम हो जाती है। इसे उपच्छाया चंद्रग्रहण कहते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.