Categories

September 27, 2022

Boundary Line Newsportal

News Innovate Your World

बिहार के दरभंगा में बनेगा राज्य का दूसरा AIIMS, मोदी कैबिनेट से मिली मंजूरी

1 min read
PM Narendra Modi

PM Narendra Modi (Photo- twitter)

बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) से पहले राज्य को बड़ी सौगात मिली है. मोदी सरकार ने दरभंगा में एम्स (AIIMS) को मंजूरी दे दी है. पटना के बाद दरभंगा राज्य का दूसरा शहर होगा, जहां एम्स (AIIMS) की सुविधा मिलेगी.

मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वर्चुअल माध्यम से कुल सात परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया. इनमें जल आपूर्ति, सीवरेज ट्रीटमेंट और रिवर फ्रंट डेवलपमेंट से संबंधित परियोजनाएं भी शामिल हैं. इसमें सबसे अहम दरभंगा में एम्स निर्माण की मंजूरी का काम है.

1264 करोड़ की लागत से बनने वाले दरभंगा एम्स (Darbhanga AIIMS) का निर्माण कार्य 48 महीने में पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है. कुछ दिन पहले ही वित्त मंत्रालय ने एम्स निर्माण में आने वाली लागत को हरी झंडी दे दी थी. दरभंगा एम्स (Darbhanga AIIMS) 750 बेड का होगा. एम्स में एमबीबीएस की 100 सीटें और नर्सिंग की 60 सीटें होंगी. इनमें 15 से 20 सुपर स्पेशियलिटी विभाग भी होंगे.

लालू परिवार पर क्या बोले रघुवंश ‘बाबू’ के गांव के लोग ?

केंद्रीय कैबिनेट ने दरभंगा एम्स के लिए डायरेक्टर के एक पद के सृजन को भी मंजूरी दी है. इसका मूल वेतन 2,25,000 रुपये (फिक्स्ड) और NPA (हालांकि, दोनों मिलाकर 2,37,500 रुपये से अधिक नहीं) तय किया है. इस अस्पताल का निर्माण प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना (PMSSY) के तहत किया जाएगा.

नहीं मान रहे चिराग पासवान, PM MODI को लिखी चिट्ठी, कहा, नीतीश से खुश नहीं जनता 

पीएम मोदी (PM Narendra Modi) ने इसके अलावा चार जल आपूर्ति, दो सीवरेज ट्रीटमेंट और एक रिवरफ्रंट डेवलपमेंट परियोजनाओं की सौगात दी. पीएम मोदी ने कहा केंद्र और बिहार सरकार के साझा प्रयासों से बिहार के शहरों में पीने के पानी और सीवर जैसी मूल सुविधाओं में निरंतर सुधार हो रहा है. आने वाले वर्षों में बिहार उन राज्यों में होगा, जहां हर घर पाइप से पानी पहुंचेगा। आज जिन परियोजनाओं का शिलान्यास हुआ है, वे इसी संकल्प का हिस्सा हैं.

पंचतत्व में विलीन हुए रघुवंश प्रसाद सिंह, गांव वालों ने कहा, हमारा ‘गांधी’ चला गया 

पीएम (PM Narendra Modi) ने कहा कि नमामि गंगे मिशन के तहत बिहार सहित पूरे देश में 180 से अधिक घाटों के निर्माण का काम चल रहा है. इनमें से 130 घाट पूरे भी हो चुके हैं. इन प्रयासों से आने वाली छठी मइया की पूजा के दौरान बिहार के लोगों की, विशेषकर महिलाओं की दिक्कतें कम होंगी, उनकी सहूलियत बढ़ेगी.

पीएम ने कहा कि आज आवश्यक है कि हमारे शहरों में संभावनाएं हों, समृद्धि हो, सम्मान हो, सुरक्षा हो, सशक्त समाज हो और आधुनिक सुविधाएं हों. आत्मनिर्भर बिहार, आत्मनिर्भर भारत के मिशन को गति देने के लिए छोटे शहरों को भविष्य की जरूरतों के मुताबिक तैयार करना जरूरी है.

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.