Categories

September 26, 2022

Boundary Line Newsportal

News Innovate Your World

नेपाल ने फिर बढ़ाई भारत की टेंशन, बिहार सीमा पर बांध की मरम्मत का काम रोका, बाढ़ का खतरा बढ़ा

1 min read
Nepal border

Nepal border

नेपाल के नक्शे (Nepal Map) में भारत के इलाकों को शामिल करने के बाद दोनों देश के बीच तनाव लगातार बढ़ता ही जा रहा है । अब नेपाल ने बिहार सीमा से सटे नो मैंस लैंड इलाके में बांध के मरम्मत (Dam Repair) पर रोक लगा दी है और भारतीय इंजीनियरों को वहां काम करने से रोक दिया है । नेपाल (Nepal) की इस हरकत के बाद बिहार (Bihar) में बाढ़ (Flood) का खतरा मंडराने लगा है। बिहार (Bihar) के जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा (Sanjay Kumar Jha) ने मामले को लेकर केंद्र सरकार से हस्तक्षेप की मांग की है।

जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा (Sanjay Kumar Jha) ने कहा है कि नेपाल ने कई जगहों पर मरम्मत का काम रोक दिया है और हम बैराज तक मरम्मत के लिये सामाग्री तक नहीं पहुंचा पा रहा है । उन्होंने कहा कि गंडक बैराज के 36 गेट हैं, 18 गेट नेपाल की तरफ हैं, नेपाल ने उस क्षेत्र में अवरोध डाल दिया है । ऐसा पहली बार हुआ है, हर साल भारत की तरफ से इंजीनियर बैराज की मरम्मत के लिये नेपाल जाते थे, अब भारत के इंजीनियर नहीं जा पा रहे हैं । गंडक बैराज से एक दिन पहले ही डेढ़ लाख क्यूसेक से ज्यादा पानी छोड़ा गया, अगर जल्द रिपेयर नहीं होगा, तो खतरा बढ़ेगा ।

वहीं सिंचाई विभाग के इंजीनियर के अनुसार नेपाल सरकार ने पांच सौ मीटर बांध की जमीन पर आपत्ति जताते हुए वहां काम रोक दिया है । इस बांध के निर्माण नहीं होने से पूर्वी चंपारण जिले के ढाका और पताही इलाके में अभी सबसे ज्यादा खतरा है।

500 मीटर भूखंड को लेकर है विवाद:
भारत- नेपाल सीमा (India Nepal Border) पर यह विवाद पीलर संख्या 345/5 और 345/7 के बीच पांच सौ मीटर के भूखंड को लेकर है । इसे लेकर नेपाल की तरफ से आपत्ति की जाती है, मगर इससे पहले जब भी विवाद हुआ था, बातचीत के द्वारा इस मसले को हल कर लिया गया था, मगर इस बार नेपाल ने बांध की मरम्मत पर रोक लगा दी है और किसी तरह के निर्माण की इजाजत नहीं दी है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.