Categories

September 27, 2022

Boundary Line Newsportal

News Innovate Your World

HAPPY BIRTHDAY DADA: एक ऐसा कप्तान, जिसने टीम को लड़ना और जीतना सिखाया

1 min read
Sourav Ganguly

Sourav Ganguly (Photo-Twitter)

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान और वर्तमान में बीसीसीआई अध्यक्ष सौरभ गांगुली (Sourav Ganguly) आज यानि 08 जुलाई को 48 साल के हो गये। सौरभ गांगुली की कप्तानी में टीम इंडिया ने विश्व क्रिकेट में अपनी धाक जमाई । अपने आक्रामक कप्तानी से दादा ने टीम इंडिया को बुलंदियों पर पहुंचाया और टीम को ना सिर्फ लड़ना सिखाया बल्कि जीतना भी सिखाया । साल 2002 में इंग्लैंड को लॉर्ड्स के मैदान में नेटवेस्ट ट्रॉफी के फाइनल में हराकर बदला लेना और फिर उसके बाद बालकनी में टीशर्ट लहराने वाले दादा की ‘दादागिरी’ पूरी दुनिया ने टीवी पर देखी थी। सौरभ गांगुली (Sourav Ganguly) ने ऑस्ट्रेलियाई टीम का विजय रथ भी रोका था । लगातार 15 टेस्ट जीतकर ऑस्ट्रेलिया की टीम भारत के दौरे पर आई थी, दादा की कप्तानी में ही टीम इंडिया ने कोलकाता में ऑस्ट्रेलिया को मात देकर ऑस्ट्रेलिया की जीत का सिलसिला खत्म किया था ।

लार्ड्स में लहराया टीशर्ट

साल 2002 में  भारतीय टीम नेटवेस्ट ट्रॉफी खेलने इंग्लैंड पहुंची और फाइनल में भारत का मुकाबला इंग्लैंड टीम से था। इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत के सामने जीत के लिए 326 रनों का टारगेट रखा । मगर भारतीय टीम ने युवराज सिंह (69) और मोहम्मद कैफ (नाबाद 87) की पारी से दो विकेट से इस मैच में रोमांचक जीत दर्ज की। जीत के बाद सौरभ गांगुली ने बालकनी में टीशर्ट उतारकर उसे हवा में लहरा दिया। गांगुली ने टीशर्ट लहराकर इंग्लैंड के खिलाड़ी एंड्रयू फ्लिंटॉफ को जवाब दिया, जिन्होंने मुंबई में मैच में मिली जीत के बाद अपनी टीशर्ट निकालकर मैदान में दौड़ लगा दी थी।

Sourav Ganguly
Sourav Ganguly

ऑस्ट्रेलियाई टीम का विजय रथ रोका
साल 2000-2001 में ऑस्ट्रेलिया की टीम टेस्ट क्रिकेट में लगातार 15 मैच जीतकर भारत के दौरे पर आई थी । स्टीव वॉ के नेतृत्व में ऑस्ट्रेलिया टीम ने मुंबई में पहला टेस्ट आसानी से जीतकर सीरीज में बढ़त बना ली। मगर जब ऑस्ट्रेलिया की टीम दूसरा टेस्ट खेलने कोलकाता के इडेन गॉर्डेन पहुंची तो सौरभ गांगुली (Sourav Ganguly) की कप्तानी में भारतीय टीम ने पलटवार किया। टीम इंडिया ने पहली पारी में पिछड़ने के बाद भी राहुल द्रविड़ और वीवीएस लक्ष्मण की रिकॉर्डतोड़ साझेदारी की बदौलत इस टेस्ट में जीत हासिल की। भारतीय टीम ने सीरीज के आखिरी और तीसरे टेस्ट में भी चेन्नई में जीत हासिल की और ऑस्ट्रेलिया को इस सीरीज में 2- 1 से मात दी।

सौरभ गांगुली ने ना सिर्फ अपने खेल से प्रभावित किया बल्कि अपनी कप्तानी में ऐसे खिलाड़ियों को मौका दिया जिन्होंने अपने क्रिकेट में अपनी अलग पहचान बनाई। इन खिलाड़ियों में वीरेंद्र सहवाग और भारत में सबसे सफल कप्तानों में से एक महेंद्र सिंह धोनी भी शामिल हैं ।

सौरभ गांगुली का अंतर्राष्ट्रीय करियर:
सौरभ गांगुली (Sourav Ganguly)  ने भारत के लिये 113 टेस्ट मैच और 311 वनडे मैच खेले। 113 टेस्ट मैच में उन्होंने 7212 रन बनाये जिसमें 16 शतक और 35 अर्धशतक शामिल है । वहीं 311 वनडे मैच में गांगुली ने 22 शतक और 72 अर्धशतक की मदद से 11363 रन बनाये हैं। 59 आईपीएल मैच में गांगुली के नाम सात अर्धशतक के साथ 1349 रन दर्ज हैं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.