Categories

December 6, 2021

Boundary Line Newsportal

News Innovate Your World

टीएमसी के वरिष्ठ नेता सुब्रत मुखर्जी का निधन, 24 अक्टूबर को अस्पताल में कराया गया था भर्ती

1 min read
Subrata Mukherjee Death

Subrata Mukherjee (Photo- Twitter)

कोलकाता. टीएमसी के वरिष्ठ नेता और ममता सरकार में मंत्री सुब्रत मुखर्जी का दिल का दौरा पड़ने से निधन (Subrata Mukherjee Death) हो गया. सुब्रत मुखर्जी को सांस लेने में तकलीफ के बाद 24 अक्टूबर को कोलकाता के अस्पताल में भर्ती कराया गया था. गुरूवार रात लगभग नौ बजे उन्होंने आखिरी सांस ली. ममता बनर्जी ने सुब्रत मुखर्जी के निधन को व्यक्तिगत क्षति बताया है.

75 साल के सुब्रत मुखर्जी की एक नवंबर को ‘एंजियोप्लास्टी’ हुई थी और उनके दिल की धमनियों में दो स्टेंट डाले गए थे. वह मधुमेह, फेफड़े की बीमारी और कई अन्य बीमारियों से पीड़ित थे. सुब्रत मुखर्जी के निधन की सूचना के बाद ममता बनर्जी एसकेएम अस्पताल पहुंची और उनके निधन की जानकारी दी. ममता सरकार में मंत्री फिरहाद हकीम ने ट्वीट किया…पार्टी के वरिष्ठ नेता सुब्रत दा का निधन (Subrata Mukherjee Death) हो गया, उनके परिवार के प्रति संवेदनायें.

सुब्रत मुखर्जी का राजनीतिक सफर:

सुब्रत मुखर्जी 1970 के दशक में पश्चिम बंगाल में कांग्रेस के युवा नेताओं में से एक थे. 2010 में सुब्रत मुखर्जी ममता बनर्जी की पार्टी में शामिल हो गये. उन्होंने बालीगंज विधानसभा सीट का नेतृत्व किया और ममता सरकार में पंचायती राज के अलावा कई अहम मंत्रालयों को संभाला. नारद स्टिंग टेप मामले में गिरफ्तार होने के बाद उन्हें जेल भेज दिया गया, जिसके बाद वह कई तरह की बीमारी की चपेट में आ गये. फिलहाल वह जमानत पर जेल से बाहर थे.

Read:West Bengal Byelection: चारों विधानसभा सीट पर टीएमसी का कब्जा, बीजेपी का नहीं खुला खाता

Also Read:UP Election 2022: अखिलेश यादव का बड़ा ऐलान, अगला विधानसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे

ममता बनर्जी ने क्या कहा ?

पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने कहा कि मैंने अपने जीवन में कई आपदाओं का सामना किया है लेकिन यह बहुत बड़ा झटका है. मुझे नहीं लगता कि सुब्रत दा जैसा कोई दूसरा व्यक्ति होगा जो इतना अच्छा और मेहनती होगा. मैं उनका शव नहीं देख पाउंगी.

इसके अलावा कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी और पश्चिम बंगाल भाजपा के अध्यक्ष डॉ सुकांत मजूमदार ने उनके निधन को बड़ी क्षति बताते हुए राजनीति के महान युग का अंत बताया है.

लेटेस्ट खबरों के लिये Boundaryline.in पर क्लिक करें. आप हमसे फेसबुक और ट्विटर के माध्यम से भी जुड़ सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *