Categories

September 27, 2022

Boundary Line Newsportal

News Innovate Your World

UPSC सिविल सेवा परीक्षा में बिहार ने फिर लहराया परचम, जानिये कितने उम्मीदवार सफल हुए

1 min read
UPSC Civil Service examination results 2019

यूपीएससी की परीक्षा में सफल हुए बिहार के छात्र

पटना. संघ लोक सेवा आयोग की सिविल सर्विस परीक्षा 2019 का परिणाम (UPSC Civil Services Examination 2019 results) मंगलवार को जारी किया गया। इस परीक्षा में एक बार फिर बिहार का परचम लहराया है। बिहार के कई छात्रों ने टॉप- 100 रैंकिंग में जगह बनाई है। सारण के दो उम्मीदवार टॉप- 100 में जगह बनाने में कामयाब रहे हैं।

भागलपुर के अनुपम को 19वां रैंक
भागलपुर के श्रेष्ठ अनुपम को दूसरे प्रयास में सफलता मिली है। दिल्ली के आईआईटी से केमिकल इंजीनियर करने वाले अनुपम को 19वां रैंक मिला है। 2012 की दसवीं परीक्षा में अनुपम देश के सेंकेंड टॉपर स्टूडेंट थे। अनुपम के पिता बिजनेसमैन हैं। अनुपम का घर भागलपुर शहर के खलीफाबाग चौक के पास है।

गोपालगंज के प्रदीप को 26वां रैंक
गोपालगंज के पालगंज के रहने वाले प्रदीप सिंह को 26वां रैंक मिला है। पिछले साल उन्हें 93वां रैंक मिला था। वह इनकम टैक्स विभाग में असिस्टेंट कमिश्नर के पद पर कार्यरत हैं। प्रदीप के पिता ने उनकी पढ़ाई को लेकर घर और जमीन तक बेच दिया था। पिछले साल प्रदीप के सफल होने के बाद एक न्यूज एजेंसी को पिता ने इंटरव्यू में यह बात बताई थी। प्रदीप सिंह का परिवार इंदौर में रहता है।

सीतामढ़ी के दीपांकर को 42वां रैंक:

सीतामढ़ी के दीपांकर को यूपीएससी की परीक्षा में 42वां रैंक मिला है। दीपांकर जिले के नानपुर प्रखंड के शांतिकुटीर के रहने वाले हैं। वर्तमान में इनका पूरा परिवार झारखंड के हजारीबाग में रहता है।

समस्तीपुर के ओमकांत को 52वां रैंक
समस्तीपुर के ओमकांत ठाकुर ने यूपीएससी परीक्षा में 52 वां रैंक हासिल किया है। वह कोलकाता में आईआरएस अधिकारी के रूप में कार्यरत हैं। ओमकांत समस्तीपुर के गोही गांव के रहने वाले हैं।

सारण के आशीष को 53वां रैंक
सारण के आशीष कुमार सिन्हा को यूपीएससी की परीक्षा में 53वां रैंक मिला है। वह सारण के लहलादपुर प्रखण्ड के सेंदुआर के रहने वाले हैं। आशीष ने दिल्ली स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स से अर्थशास्त्र विषय में स्नातक की डिग्री हासिल की है।

मधुबनी के मुकुंद को 54वां रैंक
सुधा दूध विक्रेता के बेटे मुकुंद ने यूपीएससी की परीक्षा में 54वां रैंक हासिल किया है। बाबूबरही के बरूआर निवासी मुकुंद ने पहले प्रयास में ही सफलता पाई है। मुकुंद नौसेना में जाना चाहते थे, मगर वहां सफलता नहीं मिली। सिविल सर्विस का लक्ष्य तय किया और पहले ही प्रयास में सफलता हासिल की।

पटना के प्रियांक को 61वां रैंक:

पटना के राजीवनगर इलाके के रहने वाले प्रियांक किशोर को यूपीएसी परीक्षा में 61वां रैंक मिला है। प्रियांक को इससे पहले 274वां रैंक मिला था। इन दिनों प्रियांक शिमला में ट्रेनिंग ले रहे हैं।

सारण की दिव्या को 79वां रैंक:
सारण की दिव्या को यूपीएसएसी की परीक्षा में 79वां रैंक मिला है। दिव्या सारण जिले के जलालपुर के कोठयां गांव की रहने वाली है। दिव्या शक्ति ने आईआईटी बिट्स पिलानी से इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की है। दिव्या के पिता मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉक्टर धीरेंद्र कुमार सिंह हैं।

बिहार के प्रदीप को यूपीएससी की परीक्षा में 26वां रैंक, पिता ने बेटे की पढ़ाई के घर बेच दिया था 

पूर्णिया के शिखर चौधरी को 97वां रैंक:

पूर्णिया के शिखर चौधरी को यूपीएससी सिविल सेवा की परीक्षा में 97वां रैंक मिला है। शिखर चौधरी के पिता पुणे में रेल अधिकारी हैं। शिखर बड़हरा कोठी के सुखसेना गांव का रहने वाला हैं।

भागलपुर की बिशाखा को 101वां रैंक:

भागलपुर की बिशाखा जैन को यूपीएससी की परीक्षा में 101वां रैंक मिला है। विशाखा गुजरात के बलसाड में रहती है। वह मूल रूप से भागलपुर के गोशाला रोड की निवासी है। वह शहर के माउंट कॉर्मेल स्कूल में पहली कक्षा तक पढ़ाई की थी।

बक्सर के अंशुमन को 107 वां रैंक :
बक्सर के अंशुमन राज ने यूपीएससी में 107 वां रैंक हासिल किया है। अंशुमन को तीसरे प्रयास में यह सफलता मिली है। अंशुमन ने नवोदय विद्यालय से स्कूल तक की पढ़ाई की थी। वह नावानगर के रहने वाले हैं। इनके पिता पूर्व मुखिया भी रह चुके हैं।

गोपालगंज के शिवाशिष को मिला 108वां रैंक:

गोपालगंज के भोरे पोस्ट ऑफिस चौक के शिवाशिष को यूपीएससी की परीक्षा में 108वां रैंक मिला है। इनका चयन भारतीय पुलिस सेवा के लिये हुआ है।

मुजफ्फरपुर के सुजीत शंकर को 122वां रैंक

मुजफ्फरपुर के सुजीत शंकर ने भी यूपीएससी की परीक्षा में सफलता हासिल की है। सुजीत शंकर यजुआर गांव के रहने वाले हैंं।

भोजपुर के पारितोष को 142वां रैंक
भोजपुर के लाल पारितोष पंकज ने भी यूपीएससी की परीक्षा में सफलता हासिल की है। पारितोष वीर कुंवर सिंह विवि के भोजपुरी व हिन्दी के पूर्व विभागाध्यक्ष डॉ नीरज सिंह के बेटे हैं।

समस्तीपुर के सत्यम को 169वां रैंक
समस्तीपुर के सत्यम को यूपीएससी की परीक्षा में 169वां रैंक मिला है। सत्यम के पिता विजय चौधरी भाजपा के नेता हैं । विजय चौधरी विधानसभा का चुनाव भी लड़ चुके हैं।

पटना की निधि को 180वां रैंक

यूपीएससी की परीक्षा में पटना की डॉक्टर निधि ठाकुर को 180वां रैंक मिला है। निधि पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल (पीएमसीएच) की सीनियर रेजिडेंट हैं।

सारण की अन्नपूर्णा को 194वां रैंक
सारण की अन्नपूर्णा सिंह ने यूपीएससी की परीक्षा में बाजी मारी है। अन्नपूर्णा को 194वां रैंक मिला है। अन्नपूर्णा सारण के गड़खा के केवानी गांव की रहने वाली हैं। अन्नपूर्णा ने श्री राम कॉलेज ऑफ कॉमर्स से स्नातक और दिल्ली स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स से पीजी की डिग्री हासिल की है।

समस्तीपुर के राहुल मिश्रा को 202वीं रैंकिंग
समस्तीपुर के राहुल मिश्रा को यूपीएससी की परीक्षा में 202वीं रैंकिग मिली है। आईआईटी से इंजीनियर राहुल मल्टीनेशनल कंपनी में नौकरी करते थे। नौकरी छोड़ने के बाद उन्होंने तैयारी की और सफलता हासिल की। राहुल धुरलक के रहने वाले हैं औऱ उनके पिता विपिन मिश्रा शिक्षक हैं। राहुल घर पर रहकर ही तैयारी कर रहे थे।

नवादा के संजीव को 365वीं रैंकिंग
नवादा के संजीव कुमार ने यूपीएससी की परीक्षा में 365वां रैंक हासिल किया है। संजीव कुमार पकरी बरावां प्रखंड के कबला गांव के रहने वाले हैं।

इसके अलावा पटना के खुसरूपुर इलाके के जगमालबीघा के अभिषेक कुमार, जहानाबाद की डॉक्टर हर्षा, औरंगाबाद के नरसिन्हा गांव के विकास कुमार,  भागलपुर के खरीक प्रखंड के ध्रुवगंज निवासी संदीप कुमार को भी यूपीएससी की परीक्षा में सफलता मिली है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.